Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

नीतीश सरकार ने 11 जिलों के डेढ़ दर्जन BDO पर की कारवाई, कई तरह के हैं इनपर आरोप

0 240

 

बिहार नेशन : बिहार में लापरवाही बरतने और सीनियर अफसरों की बात न मानने को लेकर सरकार ने विभिन्न जिलों में कार्यरत तक़रीबन डेढ़ दर्जन प्रखंड विकास पदाधिकारी यानी कि बीडीओ पर कार्रवाई की है। यह जानकारी ग्रामीण विकास विभाग की ओर से दी गई है। यह कारवाई 11 जिलों में की गई है।

जिन अधिकारियों के खिलाफ एक्शन लिया गया है, इन सभी को अलग-अलग दंड दिये गए हैं। किसी बीडीओ के वेतन पर रोक लगा दी गई है। सीनियर अफसरों की बात नहीं मानने को लेकर कोई-कोई अफसरों को निंदन का दंड दिया गया है। इस लिस्ट में पटना, समस्तीपुर, वैशाली, मधेपुरा, मुजफ्फरपुर, रोहतास, पूर्णिया, कटिहार, पूर्वी चंपारण, लखीसराय और भोजपुर के बीडीओ शामिल हैं, जिनके विरुद्ध सरकार ने एक्शन लिया है।

मिली जानकारी के मुताबिक पटना के मोकामा के तत्कालीन बडीओ सतीशकुमार को कार्य में लापरवही बरतने के कारण एक वेतन वृद्धि पर रोक लगा दी गई है। इसी प्रकार टना के पुनपुन के तत्कालीन बीडीओ अजीत कुमार प्रसाद को लोहिया स्वच्छ अभियान, प्रधानमंत्री आवास योजना में कर्तव्यहीनता और सीनियर अफसरों का आर्डर नहीं मानने को लेकर चेतावनी का दंड मिला है। पटना के दनियांव के तत्कालीन बीडीओ रवि कुमार दंडित किया गया है।

उधर भोजपुर अगिआंव के तत्कालीन बीडीओ सन्नी सौरभ, भोजपुर के गड़हनी के प्रभारी बीडीओ तेज बहादुर सुमन और इसी जिले के बड़हरा प्रखंड के के तत्कालीन बीडीओ सुशील कुमार को अलग-अलग दंड दिया गया है। वैशाली के राघोपुर के तत्कालीन बीडीओ विनोद कुमार के दो वेतन वृद्धि पर रोक लगा दी गई है। पूर्णिया के अमौर बीडीओ रघुनंदन आनंद और कटिहार के कुर्सेला के तत्कालीन बीडीओ नूतन कुमारी को लोहिया स्वच्छ अभियान में शिथिलता बरतने को लेकर दंडित किया गया है। बीडीओ नूतन कुमारी एक वेतन वृद्धि अवरुद्ध किया गया है।

कुछ इसी तरह की कारवाई रोहतास के कोचस के तत्कालीन बीडीओ, समस्तीपुर पूसा के बीडीओ पूर्वी चम्पारण के पीपराकोठी के बीडीओ, मुजफ्फरपुर के औराई के तत्कालीन बीडीओ, लखीसराय एवं मधेपुरा के उदयकिशुनगंज के तत्कालीन बीडीओ के उपर भी कारवाई की गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.