Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

लालू प्रसाद से मुलाक़ात पर सहनी ने कहा-इसे पर्दे में ही रहने दें,NDA में मांझी के साथ सहनी ने भी बढ़ाई टेंशन!

बिहार की राजनीति में इन दिनों सबकुछ ठीक ठाक नहीं चल रहा है. लागातार बिहार की राजनीतिक सियासत  में हलचल देखने को मिल रही हैं.

4 105

जे.पी.चन्द्रा की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार की राजनीति में इन दिनों सबकुछ ठीक ठाक नहीं चल रहा है. लागातार बिहार की राजनीतिक सियासत  में हलचल देखने को मिल रही हैं. शुकवार को एनडीए की प्रमुख सहयोगी दल हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी और राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव के बड़े पुत्र तेज प्रताप की मुलाक़ात ने तो और सियासी हलचल बढ़ा दी. शुक्रवार को तेज प्रताप यादव पूर्व सीएम जीतन राम मांझी से उनके घर मिलने गये थें और लगभग 40 मिनट तक दोनों के बीच गुफ्तगू हुई .

इस दौरान खबर है कि तेज प्रताप यादव ने अपने पिता लालू प्रसाद से मांझी की बात भी कराई थी. यह बात लालू प्रसाद और मांझी की लगभग 12 मिनट तक चली. लेकिन अब खबर है कि एनडीए के अहम सहयोगी दल हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी के साथ विकासशील इंसान पार्टी के प्रमुख मुकेश सहनी  भी नाराज हैं. जब वीआईपी सुप्रीमों से पत्रकारों ने पूछा कि क्या उनकी लालू प्रसाद यादव से बात हुई है तो उन्होंने कहा कि इसे पर्दे में ही रहने दीजिए.

बिहार के राजनीतिक उथल पुथल को इस बात से समझा जा सकता है कि पूर्व सीएम जीतन राम मांझी बीजेपी पर हमले का कोई भी मौक़ा अपने हाथ से नहीं जाने देते हैं. वे अक्सर बीजेपी के फैसले और राष्ट्रीय नेताओं से लेकर क्षेत्रीय नेताओं तक पर निशाना साधते रहते हैं. हाल ही में उन्होंने वैक्सीन सर्टिफिकेट पर पीएम मोदी की तस्वीर को लेकर हमला बोला था. साथ ही बांका मस्जिद विस्फोट मामले में भी कहा  था कि अगर दलित पढ़े तो उसे नक्सली और अगर मुस्लिम पढ़े तो उसे आतंकवादी कहा जाता है

.

तो वहीं दुसरी तरफ वीआईपी पार्टी के मुखिया मुकेश सहनी भी सीएम नीतीश कुमार पर कोई भी निशाना साधने से नहीं चुकते हैं. उन्होंने हाल ही में सीएम नीतीश कुमार को चिठ्ठी लिखकर सधे अंदाज में निशाना साधते हुए अपील की है कि पहले टीकाकरण पर 4000 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान था लेकिन अब जब केंद्र सरकार ने कोरोना वैक्सीन फ्री कर दिया है तो ऐसी स्थिती में जनप्रतिनिधियों को विकास राशी खर्च करने की शक्ति दी जाए.

मुकेश सहनी ने कहा कि उस समय सीएम द्वारा लिया गया फैसला परिस्थिती के मुताबिक़ सही था लेकिन जब अब व्यवस्था बदल गई है तो इसे भी बदलना चाहिए. उन्होंने कहा कि एनडीए में वे मजबूती के साथ हैं और रहेंगे. वहीं लालू प्रसाद यादव से दिल्ली में मुलाक़ात के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसे पर्दे में ही रहने दीजिए. वे हमारे लिए आदरणीय एवं बड़े नेता हैं. अभी उनसे कोई मुलाक़ात नहीं हुई है.

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.