Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

पंचायत चुनाव: राज्य निर्वाचन आयोग ने की समीक्षात्मक बैठक, कभी भी हो सकता है तारीखों का एलान

निर्वाचन आयुक्त ने जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को आगाह किया कि जिन जिलों में ईवीएम का नंबर एक ही मैच कर रहा है 3 दिनों के भीतर इस तरह की गंभीर गलती में सुधार करें।

0 161

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: पंचायत चुनाव को लेकर मैराथन स्तर पर तैयारी राज्य निर्वाचन आयोग के द्वारा जारी है। शनिवार को राज्य निर्वाचन आयोग ने इसकी तैयारियों को लेकर सभी जिला निर्वाचन  पदाधिकारियों के साथ  विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षात्मक बैठक की।  इस बैठक के बाद राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा अगले पखवाड़े कभी भी पंचायत चुनाव की घोषणा हो सकती है ये संकेत मिल रहे हैं । राज्य निर्वाचन आयुक्त दीपक प्रसाद ने सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारियों से कहा कि वे हर हाल में 15 अगस्त तक सभी तैयारियों को पूरी कर लें। इस निर्देश से साफ़ है कि कभी भी 15 अगस्त के बाद घोषणा की जा सकती है।

निर्वाचन आयुक्त ने जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को आगाह किया कि जिन जिलों में ईवीएम का नंबर एक ही मैच कर रहा है 3 दिनों के भीतर इस तरह की गंभीर गलती में सुधार करें। राज्य निर्वाचन आयोग ने जिन जिलों में आरक्षण को लेकर अभी तक अंतिम तौर पर त्रुटि में सुधार नहीं हो पाया है उनको एक सप्ताह के अंदर इस तरह की गलतियों को दुरुस्त कर लेने का निर्देश दिया । जिलों को यह कहा गया है कि पिछली बैठक में जो प्रतिवेदन तैयार किया गया है उसको समय पर अपलोड करा दिया जाए।

साथ ही कहा गया है कि अलग-अलग राज्यों से जो ईवीएम मंगाए गए हैं उनका अलग-अलग भंडारण भी सुनिश्चित किया जाए। भंडारण के पहले ईवीएम जिस राज्य से मंगाया गया है उस राज्य का स्टीकर चिपकाना अनिवार्य कर दिया गया है, ताकि वापसी में किसी तरह की कोई परेशानी सामने नहीं आए।साथ ही अगर किसी राज्य से प्राप्त ईवीएम में किसी तरह की गड़बड़ी है तो डिफेक्टिव का स्टीकर उस ईवीएम पर चिपका देने का निर्देश दिया गया है।

जिला निर्वाचि पदाधिकारियों को कहा गया है कि राज्य में नवगठित उत्क्रमित और सीमा विस्तारित नगरपालिका के फलस्वरूप जिस तरीके से परिवर्तन सामने आया है उसको पंचायत निर्वाचन नियमावली के अनुसार सुसंगत तरीके से संशोधित कर लिया जाए।

राज्य निर्वाचन आयोग ने सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारी से यह भी कहा है कि यह भी सुझाव वे दें कि जिला स्तर पर मतगणना कराईं जा सकती है या नहीं । इसके साथ ही सभी को आदर्श मतदान केंद्र को भी चिन्हित करने की सुझाव दी गई है। वहीं मतदाता सूची और बूथों को भी संशोधित करने कि सलाह दी गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.