Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

पुलिस ने 4 चार साल से फरार हार्डकोर नक्सली विजय आर्या को किया गिरफ्तार

0 428

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में नक्सलियों के खिलाफ कारवाई जारी है। लगातार नक्सलियों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस छापेमारी कर रही है। इससे बौखलाए नक्सली हमला भी कर दे रहे हैं । हालांकि पुलिस की लगातार कारवाई से उनका हौसला पस्त होते जा रहा है। वहीं पुलिस को भी बड़ी सफलता मिल रही है। कुछ ऐसी ही खबर राज्य के रोहतास और औरंगाबाद से है। जहाँ  पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए पिछले 4 साल से फरार कुख्यात इनामी नक्सली विजय आर्य को गिरफ्तार किया है। साथ में इसका शागिर्द नक्सली उमेश चौधरी को भी पुलिस ने धर दबोचा है। पुलिस की यह कार्रवाई रोहतास थाने के समहुता के पास की गई है। नक्सली विजय आर्या पर 14 राज्यों में केस दर्ज हैं।

बता दें कि नक्सली विजय आर्य गया जिले के कोच थाना क्षेत्र का रहने वाला है और गया, जहानाबाद, औरंगाबाद, कैमूर और रोहतास जिले के विभिन्न इलाकों में नक्सली घटनाओं में शामिल रहा है। यह इनामी नक्सली है और पिछले कई दिनों से रोहतास के पहाड़ी इलाके में अपने संगठन को विस्तार करने में लगा था। खासकर भाकपा माओवादी के सोन-गंगा विंध्याचल कमेटी को फिर से सक्रिय करने के लिए काम कर रहा था। पुलिस को इसकी सूचना मिली तो विशेष टीम गठित की गई और औरंगाबाद पुलिस की मदद से रोहतास पुलिस ने इसे पकड़ लिया।

नक्सली विजय आर्य के पास से टैब, पेन-ड्राइव, हार्डडिस्क, नक्सली पर्चा, लेवी की रसीद, भाकपा माओवादी का लेटर हेड के अलावे कई आपत्तिजनक सामान बरामद हुए हैं। रोहतास के एसपी आशीष भारती ने प्रेस वार्ता कर बताया कि लगभग डेढ़ दर्जन से अधिक नक्सली वारदातों में इसकी संलिप्तता रही है। गया, औरंगाबाद, जहानाबाद और रोहतास जिला में इसने कई नक्सली वारदातों को अंजाम दिया है और आगे भी नक्सली घटना को अंजाम देने की फिराक में था।

वहीं इस मामले में एसपी का कहना है कि इस गिरफ्तारी से इलाके में नक्सलियों का नेटवर्क धव्स्त हो जाएगा। उन्होंने बताया कि विजय आर्या लगातार लेवी वसूलने के कार्य में लगा हुआ था । लेकिन वह सूचना के आधार पर गिरफ्तार कर लिया गया ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.