Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

पिकअप वैन पर लदी विदेशी शराब की 66 पेटियों से 1152 बोतल शराब पुलिस ने किया जब्त

0 133

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में शराब बंदी लागू है लेकिन फिर भी इसका व्यापार करने से शराब माफिया बाज नहीं आ रहे हैं । वे लगातार इसका व्यापार चोरी-छिपे कर रहे हैं । यहाँ तक की वे इसकी खेप अन्य राज्यों से लाकर भी सप्लाई कर रहे हैं । कुछ इसी तरह का मामला झारखंड से आया है जहाँ रामगढ़ जिले की कुजू पुलिस ने धनबाद से बिहार भेजी जा रही विदेशी शराब की बड़ी खेप पिकअप वैन से बरामद की है। पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर इसे पिकअप वैन से जब्त कर लिया है।

इस दौरान ड्राइवर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस मामले को लेकर मंगलवार को कुजू ओपी परिसर में रामगढ़ एसडीपीओ किशोर कुमार रजक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी। रामगढ़ एसडीपीओ किशोर कुमार रजक ने बताया कि सोमवार की रात्रि गुप्त सूचना मिली थी कि धनबाद से पिकअप वैन (बीआर03जीए-5022) पर भारी मात्रा में विदेशी शराब रामगढ़ होते हुए बिहार की ओर भेजी जा रही है। इसके बाद उन्होंने कुजू ओपी प्रभारी अवधेश कुमार को इस संदर्भ में निर्देश दिया। ओपी प्रभारी अवधेश कुमार के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। टीम द्वारा मुरपा स्थित पंजाबी ढाबा के पास फोरलेन सड़क पर इस पिकअप वैन को जब्त किया गया। मौके से पिकअप चालक धनबाद निवासी रजाउल अंसारी को गिरफ्तार किया।

पुलिस ने बताया कि चालक से पूछताछ में उसने बताया कि ये शराब धनबाद निवासी विजय मंडल की है। उसके द्वारा शराब बिहार भेजी जा रही थी। पुलिस ने बताया शराब माफिया के द्वारा शराब पकड़ा न जाये इसके लिए उसने शराब की पेटियों के ऊपर टूटा-फूटा पाइप डाल दिया गया था। प्रेस कॉन्फ्रेंस में ओपी प्रभारी अवधेश कुमार, पुलिस अवर निरीक्षक कमलेश कुमार सिंह, सहायक अवर निरीक्षक उमेश कुमार शर्मा, तलेबर महतो आदि शामिल थे।

 

एसडीपीओ ने बताया कि पकड़ी गयी शराब में कुल 66 पेटियां हैं। इनमें रॉयल स्टेग, इंपीरियल ब्लू व मैकडोल नंबर 01 की कुल 1152 बोतलें हैं। पिकअप वैन का नंबर भी फर्जी है।पुलिस ने उत्पाद अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस ने पिकअप वैन चालक को जेल भेज दिया।

बता दें कि बिहार में नीतीश सरकार ने शराब बंदी कर रखी है। हालांकि इसके बावजूद भी पुलिस द्वारा शराब की खेप कई जगहों से बरामद की जा रही है। वहीं नीतीश सरकार ने इसे समाप्त करने के लिए अब ड्रोन से भी निगरानी करने के निर्देश जारी किये हैं । वहीं विपक्ष लगातार इस मामले में नीतीश कुमार पर निशाना साधती है कि शराब बंदी केवल नाम मात्र की बिहार में है। इसकी समीक्षा की जानी चाहिए ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.