Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

गणतंत्र दिवस: राष्ट्र को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया संबोधित,ये है राष्ट्रपति के संबोधन की अहम बातें  

0 288

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बुधवार यानी 26 जनवरी को पुरा देश स्वतंत्र दिवस धूमधाम से मनाएगा।  लेकिन उससे पहले इस 73वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देश को संबोधित किया और सभी देशवासियों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई दी। उन्होंने कहा कि गणतंत्र दिवस हम सबको एक सूत्र में बांधने वाली भारतीयता के गौरव का उत्सव है।

वोटर्स पार्टी इंटरनेशनल

सन 1950 में आज ही के दिन हम सब की इस गौरवशाली पहचान को औपचारिक स्वरूप प्राप्त हुआ था। हर साल गणतंत्र दिवस के दिन हम अपने गतिशील लोकतंत्र तथा राष्ट्रीय एकता की भावना का उत्सव मनाते हैं। उन्होंने महामारी के दौर से लेकर सेना के कठिन जीवन और दिवंगत सीडीएस जनरल बिपिन रावत की भी चर्चा की।

बनिया पंचायत

राष्ट्रपति के संबोधन की अहम बातें

1. गणतंत्र दिवस का यह दिन उन महानायकों को याद करने का अवसर भी है जिन्होंने स्वराज के सपने को साकार करने के लिए अतुलनीय साहस का परिचय दिया तथा उसके लिए देशवासियों में संघर्ष करने का उत्साह जगाया।

एरकी कला पंचायत

2. महामारी का प्रभाव अभी भी व्यापक स्तर पर बना हुआ है, हमें सतर्क रहना चाहिए और अपने बचाव में ढील नहीं देनी चाहिए। हमने अब तक जो सावधानियां बरती हैं, उन्हें जारी रखना है। संकट की इस घड़ी में हमने यह देखा है कि कैसे हम सभी देशवासी एक परिवार की तरह आपस में जुड़े हुए हैं।

उत्तरी उमगा पंचायत

3. पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था पर आघात हुआ है। विश्व समुदाय को अभूतपूर्व विपदा का सामना करना पड़ा है। नित नए रूपों में यह वायरस नए संकट प्रस्तुत करता रहा है। मुझे यह कहते हुए गर्व का अनुभव होता है कि हमने कोरोना के खिलाफ असाधारण दृढ़-संकल्प और कार्य क्षमता का प्रदर्शन किया।

मदनपुर पंचायत

4. इन प्रयासों के बल पर हमारी अर्थव्यवस्था ने फिर से गति पकड़ ली है। प्रतिकूल परिस्थितियों में भारत की दृढ़ता का यह प्रमाण है कि पिछले साल आर्थिक विकास में आई कमी के बाद इस वित्त वर्ष में अर्थव्यवस्था के प्रभावशाली दर से बढ़ने का अनुमान है।

खिरयावां पंचायत

5. इस प्रभावशाली आर्थिक प्रदर्शन के पीछे कृषि और मैन्यूफैक्चरिंग क्षेत्रों में हो रहे बदलावों का प्रमुख योगदान है। मुझे यह जानकर प्रसन्नता हुई है कि हमारे किसान, विशेषकर छोटी जोत वाले युवा किसान प्राकृतिक खेती को उत्साह-पूर्वक अपना रहे हैं।

बब्लू टाइल्स दूकान

6. आज, हमारे सैनिक और सुरक्षाकर्मी देशाभिमान की विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं। हिमालय की असहनीय ठंड में और रेगिस्तान की भीषण गर्मी में अपने परिवार से दूर वे मातृभूमि की रक्षा में तत्पर रहते हैं।

वरिष्ठ बीजेपी नेता

7. जब कभी किसी वीर सैनिक का निधन होता है तो सारा देश शोक-संतप्त हो जाता है। पिछले महीने एक दुर्घटना में देश के सबसे बहादुर कमांडरों में से एक जनरल बिपिन रावत, उनकी धर्मपत्नी तथा अनेक वीर योद्धाओं को हमने खो दिया। इस हादसे से सभी देशवासियों को गहरा दुख पहुंचा।

एरकी कला पंचायत समिति सदस्य

8. भारतीय नौसेना और कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड की समर्पित टीमों ने स्वदेशी व अति-आधुनिक विमानवाहक पोत आई.ए.सी.-विक्रांत का निर्माण किया है, जिसे हमारी नौसेना में शामिल किया जाना है।

जाप पार्टी नेता

9. ऐसी आधुनिक सैन्य क्षमताओं के बल पर अब भारत की गणना विश्व के प्रमुख नौसेना-शक्ति-सम्पन्न देशों में की जाती है। यह रक्षा के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर होने का एक प्रभावशाली उदाहरण है।

10. मुझे यह जानकर प्रसन्नता हो रही है कि विश्व में सबसे ऊपर की 50 ‘इनोवेटिव इकॉनोमीज़’ में भारत अपना स्थान बना चुका है। यह उपलब्धि और भी संतोषजनक है कि हम व्यापक समावेश पर जोर देने के साथ-साथ योग्यता को बढ़ावा देने में सक्षम हैं।

मालूम हो कि 73 वें गणतंत्र दिवस को लेकर देश में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं । ताकी किसी भी प्रकार की कोई अनहोनी न हो सके ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.