Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

बिहार: पुलिस ने RRB अभ्यर्थियों को लॉज में घुसकर जमकर पीटा, पटना पुलिस की दादागिरी का वीडियो वायरल

0 197

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार और यूपी में इन दिनों एनटीपीसी रेलवे के रिजल्ट को लेकर छात्रों का आंदोलन तेज हो गया है। इसे लेकर कई जगहों पर छात्रों द्वारा रेलवे भर्ती बोर्ड के खिलाफ आगजनी भी मंगलवार,बुधवार को हुई । यहाँ तक की कुछ जिलों में ट्रेन को आग के हवाले छात्रों ने कर दिया।

बर्निंग ट्रेन

वहीं प्रशासन और छात्रों के बीच रोड़ेबाजी भी हुई । लेकिन छात्रों के प्रदर्शन के बाद पटना पुलिस ने देर रात हॉस्टल और लॉज में घुसकर छात्रों की बेरहमी से पिटाई की है।  परसों का ये वीडियो मुस्लहपुर हाट के प्रोफेसर कॉलोनी का है, जहां पुलिस कमरों में घुसकर छात्रों की पिटाई कर रही है। यह वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है।

बर्निंग ट्रेन

अब बिहार में RRB-NTPC के रिजल्ट को लेकर विरोध कर रहे छात्रों पर पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है। भोजपुर में 700 और नवादा में 500 अज्ञात लोगों पर केस दर्ज किया गया है। दोनों जिलों को मिलाकर कुल आठ लोगों को अरेस्ट कर जेल भी भेज दिया गया है। वहीं, गया में ट्रेन की बागियों में आगजनी करने वालों की जांच में पुलिस जुट गई। वीडियो फुटेज और संदिग्धों से पूछताछ के आधार पर उपद्रव करने वालों की तलाश की जांच की जा रही है।

छात्र आंदोलन

बता दें, गया जंक्शन पर पुलिस के निकलने के बाद स्टूडेंट्स फिर से आए और ट्रेन की तीन बोगियों में आग लगा दी थी। इसके पहले भी कुछ बोगियों को आग के हवाले किया गया था। इसके बाद हालात को काबू करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े थे।

बर्निंग ट्रेन
छात्र आंदोलन

वहीं भोजपुर पुलिस ने अब तक 700 अज्ञात छात्रों पर FIR दर्ज की है। इसमें RPF थाने में 200 छात्रों पर और GRP थाने में 4 नामजद सहित 500 पर FIR दर्ज की गई है। यहां चार नामजद आरोपियों अरुण कुमार पंडित, विष्णु शंकर पंडित, वरुण पंडित और रवि शंकर कुमार पंडित को जेल भेज दिया गया है।

एनटीपीसी आंदोलन
खान सर

आपको बता दें कि इस उग्र आंदोलन के बाद पुलिस ने पटना ने कई प्रसिद्ध कोचिंग संस्थानों के संचालकों और शिक्षकों पर मुकदमे भी दर्ज की है। जिसमें खान सर और नवीन सर का नाम भी शामिल है। इन सभी पर कई धाराएँ लगाई गई है। वहीं छात्रों द्वारा बुलाई गई  28 जनवरी के बिहार बंद को बिहार के कई राजनीतिक दलों ने भी समर्थन दिया है। यहाँ तक की सताधारी दल के मुकेश सहनी अपनी पार्टी वीआईपी की तरफ से बंदी का समर्थन कर दिया है। जबकि जाप सुप्रीमों पप्पू यादव पहले ही बंद को समर्थन दे चुके हैं ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.