Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

वरिष्ठ पत्रकार कमल किशोर ने पत्रकारों के कोरोना संक्रमण से मौत पर आश्रितों को 50 लाख रूपये देने की मांग की

बिहार में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है. ऐसे में पत्रकारों की भी चिंता बढ़ना स्वाभाविक है. क्योंकि पत्रकारों को सभी जगह से समाचार संकलन के दौरान कोरोना संक्रमण का खतरा बना रहता है.

0 117

बिहार नेशन: बिहार में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है. ऐसे में पत्रकारों की भी चिंता बढ़ना स्वाभाविक है. क्योंकि पत्रकारों को सभी जगह से समाचार संकलन के दौरान कोरोना संक्रमण का खतरा बना रहता है. कई पत्रकारों की मौत भी हो चुकी है. अब इसी मुद्दे से चिंतित होकर औरंगाबाद जिले के बिहार श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य एवं वरिष्ठ पत्रकार कमल किशोर ने  कोरोना से मृत पत्रकारों के आश्रितों को कम से कम 50 लाख रुपए के आर्थिक सहायता की मांग नीतीश सरकार से की है.

उन्हीने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखते हुए कहा है कि कोरोना संक्रमण के इस दौर में  मुफस्सिल स्तर पर कार्य कर रहे संवाददाता फ्रंट लाइन कोरोना वारियर्स के रूप में काम कर रहे हैं . इस दौरान कोरोना से संक्रमित होकर गया, वैशाली, भागलपुर , नवादा, भोजपुर जिलों समेत राज्य भर में आधा दर्जन से अधिक पत्रकारों की मृत्यु हो चुकी है .लेकिन राज्य सरकार उनकी कोई सुध नहीं ले रही है. उन्होंने समाज में पत्रकारों के योगदान एवं कार्यों को देखते हुए उनके लिए विशेष सहायता का प्रावधान करने की मांग की.

उन्होंने कहा कि भारत सरकार के प्रसार भारती द्वारा पत्रकारों के लिए कोरोना से मौत होने पर उनके आश्रितों को 50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता का प्रवाधान कर दिया गया है,लेकिन बिहार में प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में कार्यरत पत्रकारों के लिए इस तरह की कोई योजना की घोषणा राज्य सरकार ने नहीं की है.

जे.पी.चन्द्रा 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.