Bihar Nation
सबसे पहले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

हर हाल में समाजिक सद्भाव कायम रहे – राजद नेता डॉ सुरेश पासवान

0 230

 

बिहार नेशन: मुहर्रम जुलूस के दौरान कुटुंबा प्रखंड के सांडा़- सांडी़- बंदुआ गांव में दोनों पक्षों के बीच झड़प के बाद शांति है। इस बारे में बिहार सरकार के पूर्व मंत्री एवं राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ सुरेश पासवान ने कहा है कि नासमझ युवकों के द्वारा हल्का फुल्का झड़प हो गया था जिसकी आड़ में कुछ शरारती तत्वों के द्वारा समाजिक सद्भाव बिगाड़ने की कोशिश की गई । लेकिन समय रहते जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के द्वारा त्वरित कार्रवाई से सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने वालों के मंसूबे पर पानी फिर गया। और दोनों समुदायों के बीच सद्भाव कायम करने के लिए जो कदम उठाया गया वह काबिले तारीफ है।

वहीं इस बारें में बता दें कि बिहार सरकार के पूर्व मंत्री एवं राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ सुरेश पासवान, पूर्व विधान पार्षद डॉ उपेंद्र प्रसाद, संडा पंचायत के मुखिया गुलाम सरवर, पिपरा बगाही पंचायत के मुखिया तौहीद अंसारी ,मटपा पंचायत के मुखिया सरुन पासवान , पूर्व मुखिया महराज मेहता, पूर्व पंचायत समिति सदस्य सुरेश पासवान वरिष्ठ नेता बैजनाथ मेहता , संजय मेहता,अजय मेहता,मों करार साहब,मों फैयाज अंसारी, मुबारक अंसारी,सागीर अंसारी, रमजान अंसारी, गुड्डू मेहता,अरून कुमार सिंह, इरफान अहमद सहित दर्जनों लोगों ने समाजिक सद्भाव कायम रखने हेतु बीते रविवार को संडा में एक बैठक बुलाई गई ।

बैठक में उक्त सभी लोगों ने यह चर्चा की कि आपसी सहमति से पूर्व की भांति जैसे मिल जुल कर रहते आएं हैं उसी तरह से आगे भी रहना है । इसके लिए दोनों पक्षों और उपस्थित सभी लोगों ने यह तय किया कि हर हालत में हमें आपसी भाईचारा प्रेम और सद्भाव बना कर रहना चाहिए। किसी के भी बहकावे में किसी भी कीमत पर नहीं आना चाहिए। साथ ही यह भी सहमति बनी कि दोनों पक्ष पर जो मुकदमा दर्ज हुआ है, गिरफ्तारी भी हुई है, इसके लिए जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के वरीय पदाधिकारियों से मिलकर यह बताया जाए कि दोनों पक्ष में अब किसी तरह का कोई आपसी तनाव नहीं है। इसलिए जो निर्दोष व्यक्ति हैं उन्हें जांच कर बरी किया जाए। इसे लेकर एक प्रतिनिधि मंडल सोमवार को आरक्षी अधीक्षक औरंगाबाद से मिलकर सम्पूर्ण वस्तुस्थिति से उन्हें अवगत कराया। और उनसे इस मामले में निर्दोष लोगों को जांच कर बरी करने का आग्रह किया।

वहीं इस बारे में आरक्षी अधीक्षक औरंगाबाद के द्वारा उच्चस्तरीय जांच शीघ्र कराने की बात कही गई तथा कहा कि निर्दोष लोगों को बरी किया जाएगा। जबकि आरक्षी अधीक्षक के द्वारा दोनों पक्षों के प्रमुख लोगों एवं अभिभावकों से अपने-अपने बच्चों पर विशेष ध्यान रखने को कहा गया। उन्होंने कहा कि बच्चे गलत संगत के शिकार हो रहें हैं जिसके चलते इस तरह के घटनाएं घटित हो रही है। जिससे समाज को बड़ा भारी नुक्सान हो रहा है।समाज, सरकार,जन प्रतिनिधि एवं प्रशासन हम सबों का यह दायित्व है कि समाज में शांति एवं सद्भाव हर हाल में कायम रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.