Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

विशेष रिपोर्ट: लोग पैसे की लालच में फैमिली को नहीं दे पा रहे हैं समय, बढ़ रही हैं दूरियां, ऐसे रोकें इसे… 

0 200

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: आज की जिंदगी सभी की नाजुक दौर से गुजर रही है। परिवारों के बीच वो एकजुटता और सामंजस्य नहीं रहा ! इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में लोग पैसे के चक्कर में बहुत कुछ खोते जा रहा है। बस दिमाग में लोगों के पैसा ,पैसा और पैसा भर गया है। जबकि इसके कई बुरे परिणाम सभी के सामने आ रहे हैं। फिर भी लोग नहीं सीख रहे हैं । इसे नजरंदाज करते जा रहे हैं। आज के युग में उन्नति का अर्थ केवल धनोपार्जन से लिया जा रहा है अर्थात जो व्यक्ति जितना अधिक धन अर्जित कर रहा है, वह उतना ही सफल माना जा रहा है।

आज स्थिति यह आ गई है कि बेहतर जिंदगी गुजारने के लिए लोग ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाने पर उतारू हैं, जिसकी वजह से फैमिली के लिए टाइम ही नहीं निकाल पा रहे हैं । इस दूरी की वजह से रिश्तों के बीच शक की खाई बढ़ रही है और इसका रिजल्ट कई तरह की हिंसक घटनाओं के तौर पर नजर आ रहा है। इतना ही नहीं न्यूक्लीयर फैमिली होने की वजह से लोग अब रिश्तों का मोल भी भूल गए हैं। उन्हें यह बताने वाला कोई नहीं है कि जब वह कमाने के लायक नहीं होंगे, पैसा तो बहुत होगा, लेकिन साथ देने वाला कोई नहीं होगा।

साइकोलॉजिस्ट की राय में इसलिए हो रही घटनाएं

– अधिक से अधिक पैसा पाने की लालसा बढ़ती जा रही है।
– एक दूसरे पर संदेह कर रहे हैं।
– डाउट होना, धोखा होना जैसी फिलिंग आने पर लोग अचानक से हो जा रहे जानलेवा।
– क्राइम होता है तो पता चलता है, उसकी सजा कितनी हुई? इसकी नहीं होती जानकारी।
– क्राइम करके पहुंंच और जुगाड़ से बच जाएंगे।
– घर-घर के झगड़े में पुलिस डांट समझाकर छोड़ देती है।
– बार-बार हो रहे झगड़े को खत्म करने के लिए उठा लेते हैं गलत कदम।

लेकिन आप इसे ऐसे रोक सकते हैं

– अपनी मेहनत पर भरोसा रखें।
– किसी से बहुत अधिक उम्मीद ना पालें।
– किसी के लिए कुछ भी कीजिए, बदले में उसने क्या किया? इसकी उम्मीद ना पालें।
– सीनियर्स को रोल मॉडल की भूमिका में आगे आना होगा।
– घर-घर के झगड़े में पहले ही स्टेप में कड़े कदम उठाए जाएं तो लोग गलत कदम उठाने से कतराएंगे।

एक बात यहाँ गौर करने वाली है कि घरेलू विवाद में जान लेने की प्रवृत्ति भी बढ़ती जा रही है। परिवार के बीच अब विश्वास नहीं नहीं रहा। अधिक से अधिक पैसे और प्रॉपर्टी की उनके अंदर लालसा बढ़ते जा रही है। अब कोई सीनियर भी समझाने के लिए आगे नहीं आता है। इसका परिणाम है कि ऐसी घटनाओं में लगातार वृद्धि होते जा रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.