Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

विशेष रिपोर्ट: क्या बिहार से नक्सलियों का हो पाएगा  सफाया ? एनआईए की एंट्री बहुत कुछ करती है बयां

0 130

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: देश में केवल बिहार ही एक ऐसा एकलौता राज्य नहीं है जहाँ नक्सली मौजूद हैं । या फिर यूँ कहें की नक्सली सक्रिय हैं । बिहार का स्थान देश के नक्सली राज्यों में पहले तीसरा था । लेकिन अब यह पांचवें स्थान पर पहुंच गया है। मतलब साफ़ है कि बिहार की स्थिति इस मामले में पहले की तुलना में काफी सुधरी है।

पहले जहां देश के नक्सल प्रभावित राज्यों में छत्तीसगढ़ और झारखंड के बाद बिहार का नाम आता था लेकिन इस स्थिति में बहुत सुधार होने के कारण बिहार का नाम छत्तीसगढ़ झारखंड उड़ीसा और महाराष्ट्र के बाद अब पांचवें नंबर पर आता है। बिहार में पहले जहां 16 जिले नक्सल प्रभावित हुआ करते थे। वह अब घटकर महज 10 रह गए हैं।  इनमें से 6 जिले अभी भी ज्यादा नक्सल प्रभावित हैं।

गौरतलब हो कि मुजफ्फरपुर, नालंदा, जहानाबाद समेत बिहार के 6 जिलों को नक्सल प्रभाव से मुक्त घोषित कर दिया गया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय के वाम उग्रवाद विभाग ने देश के 11 राज्यों में 30 जिलों को नक्सल प्रभावित से मुक्त किया था। इनमें बिहार के मुजफ्फरपुर, वैशाली, नालंदा, जहानाबाद, अरवल और पूर्वी चंपारण जिला शामिल है।

आपको बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा बिहार के मगध क्षेत्र में नक्सलियों की गतिविधियों को समाप्त करने के लिए तैयारी कर रहा है। इसके लिए गया जेल में एनआईए की टीम की मदद ली जा रही है। गया जेल में बंद 5 दुर्दांत नक्सलियों को रिमांड पर लेने की पूरी तैयारी कर ली गई है। एनआईए की टीम अगर इसकी जांच में शामिल हुई है तो फिर कहीं न कहीं इसमें आतंकियों के साथ भी कनेक्शन नक्सलियों का है। अब माना जा रहा है नक्सलवाद को पूरी तरह से सरकार कुचल देगी । लेकिन इसके साथ ही केंद्र और राज्य सरकार को सामाजिक और आर्थिक असमानता को भी समाप्त करना होगा । तभी यह स्थाई रूप से समाप्त होगी ।

अभी नक्सलियों के साथ कई बार कोबरा जवानों की  औरंगाबाद -गया जिले में मुठभेड़ हो चुकी है। नक्सली संगठन भाकपा माओवादियों ने औरंगाबाद और गया सीमा में अपनी गतिविधियां पूरी तरह से सक्रिय कर रखी है। मालूम हो कि मगध क्षेत्र में जहानाबाद, गया , अरवल, औरंगाबाद, नवादा जिले आते हैं । जिसमें गया -औरंगाबाद अधिक नक्सलियों का गढ़ माना जाता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.