Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

औरंगाबाद शहर में अतिक्रमण हटाने को लेकर SDM, SDPO, DTO एवं नगर परिषद के सिटी मैनेजर उतरें सड़कों पर

0 156

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

औरंगाबाद: बिहार में सबसे अधिक अतिक्रमण का शिकार हैं तो वह है सड़कें । चाहे वह गाँव की हो या फिर शहरों की । सड़कों का अतिक्रमण इस कदर बढ़ गया है कि लोगों के आवागमन को भी ठप कर रखा है। कुछ ऐसा ही नजारा है औरंगाबाद जिले के शहर का । यहाँ शहर की सड़कें अतिक्रमण की शिकार हैं। अतिक्रमण से सड़कें कराह रही हैं। स्थिति यह है कि लोगों का पैदल चलना मुश्किल हो गया है।

अतिक्रमण

शहर में अतिक्रमण पर कार्रवाई की जरूरत है। यह सवाल भी लोग बार-बार उठाते हैं । हालांकि इसे प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। अतिक्रमण हटाने सोमवार को एसडीएम विजयंत, एसडीपीओ गौतम शरण ओमी, डीटीओ बालमुकुंद प्रसाद एवं नगर परिषद के सिटी मैनेजर विनय कुमार बड़ी संख्या में पुलिसबलों के साथ सड़क पर उतरे। दुकानदारों को चेतावनी दी।

अतिक्रमण

अधिकारियों ने साफ लहजे में कहा, सड़क से दुकान को दूर रखें, अन्यथा कार्रवाई झेलने के लिए तैयार रहें। सड़क किनारे पार्किंग किए गए वाहनों को जब्त कर जुर्माना लगाया। सड़क पर ठेला एवं दुकान लगाने वाले अतिक्रमणकारियों को सख्त हिदायत दी गई। कहा कि अब आग्रह नहीं कार्रवाई होगी। सड़क पर लगे सामान सहित दर्जनों ठेला और अन्य सामान को जब्त किया गया। जब्त सामान को ट्रैक्टर से नगर थाने भेजा गया। दो से तीन दिन के अंतराल पर चलाया जाएगा अभियान

एसडीएम ने बताया कि शहर में दो-तीन दिन के अंतराल पर अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा। अतिक्रमण के मामले में स्थायी दुकानदारों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। अभियान के दौरान जेसीबी मशीन नहीं रहने के कारण दुकानों के आगे सड़क पर लगे करकट एवं छज्जा को नहीं हटाया गया। अगले दिन अभियान के दौरान जेसीबी मशीन रखी जाएगी। बताया कि सभी दुकानदारों को सड़क पर दुकान नहीं लगाने की सख्त हिदायत दी गई है। एसडीएम ने नागरिकों से अपील की है कि जो लोग सब्जी खरीदने के लिए बाजार जा रहे हैं वे सड़क पर वाहन पार्किंग न करें। सब्जी बाजार के सामने बने पार्क में ही वाहन खड़ा करें। यहां वाहन खड़ा करने के लिए कोई शुल्क नहीं है। इसके बावजूद कोई नहीं माना तो वाहन जब्त करते हुए अग्रेतर कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई से शहर में हड़कंप रहा। काफी संख्या में पुलिस बल तैनात रहे। एसडीएम ने सभी ठेला पर सामान बेच रहे ग्राहकों को निर्देश दिया कि फुटपाथ से हटकर ठेला लगाएं। निर्देश का उल्लंघन हुआ तो ठेला जब्त करते हुए कार्रवाई की जाएगी। एक लाख से अधिक का वसूला जुर्माना।

अतिक्रमण

डीटीओ बालमुकुंद प्रसाद ने बताया कि रमेश चौक से जामा मस्जिद व ओवरब्रिज तक अतिक्रमण को हटाया गया है। इस दौरान सड़क पर वाहन पार्किंग करने व गलत साइड में वाहन चलाने वाले चालकों से जुर्माना वसूला गया है। अतिक्रमण हटाने के दौरान करीब सात बाइक को जब्त किया गया है। रामाबांध बस स्टैंड के पास गलत साइड में चल रहे चार हाइवा को जब्त किया गया है। जुर्माना वसूला जा रहा है। बताया कि एक लाख रुपये से अधिक का जुर्माना वसूला गया है। यह अभियान लगातार जारी रहेगा। शहर को अतिक्रमण से मुक्त कराना और नागरिकों को बेहतर सुविधा देना हमारा कर्तव्य है।

अब देखनेवाली  की बात यह होगी कि यह कारवाई लगातार चलती है या केवल एक दो बार के बाद खानापूर्ति बनकर रह जाती है । लेकिन इस तरह की कानूनी कारवाई की जरूरत केवल जिले में ही नहीं बल्कि छोटे शहरों में भी इसकी जरूरत है। इस जिले के मदनपुर प्रखंड अन्तर्गत जो भी छोटे-छोटे शहर हैं खासकर मदनपुर और खिरियावां में भी  काफी अतिक्रमण देखने को आपको मिलेगा ,  जहाँ सड़कों पर अक्सर आपको ठेले वालों और सब्जी वालों ने कब्जा जमा रखा है। इसपर भी प्रशासन को ध्यान देने की जरूरत है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.