Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

BREAKING NEWS: बिहार में एक बार फिर से बढ़ाया गया लॉकडाउन, सीएम नीतीश ने किया एलान

इस वक्त राजधानी पटना से बड़ी खबर सामने आ रही है. बिहार में एक बार फिर से कोरोना संक्रमण के घटते मामले को देखते हुए इसे 1 जून तक के लिए बढ़ा दिया गया है.

0 128

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट 

बिहार नेशन: इस वक्त राजधानी पटना से बड़ी खबर सामने आ रही है. बिहार में एक बार फिर से कोरोना संक्रमण के घटते मामले को देखते हुए इसे 1 जून तक के लिए बढ़ा दिया गया है. इसकी जानकारी खुद सीएम नीतीश कुमार ने ट्वीट कर दी है.

मालूम हो की कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर राज्य सरकार ने  5 मई से लेकर 15 मई तक लॉक डाउन लगाया था । लेकिन कोरोना के मामले को देखकर इसे 16 मई से 25 मई तक दूसरा लॉकडाउन बढ़ा दिया गया।अब लॉकडाउन को तीसरी बार 1 जून तक के लिए बढ़ाया गया है. वैसे आपको बता दें कि अभी 25 मई तक जो जरूरी चीजें हैं उन सेवाओं को छोड़कर सभी सरकारी और प्राइवेट ऑफिस बंद रहेंगे । वहीं सभी शैक्षणिक संस्थान, सिनेमा हॉल, मॉल, क्लब स्वीमिंग पुल एवं जिम, पार्क और स्टेडियम बंद रहेंगे।

corona

वहीं सीएम नीतीश कुमार ने कोरोना की तीसरे लहर को देखते हुए अभी से ही रैयारियाँ शुरू कर दी हैं. इसके तहत पीएचसी में पांच-पांच  बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाया जाएगा . इसके लिये जो भी जरूरत की सामान हैं उसकी खरीदारी की जा रही है. ताकी उस समय संकट की घड़ी में खासकर ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करायी जा सके . वहीं पटना के ग्रामीण इलाके में तैयारी भी शुरू कर दी गई है. पटना जिले के  23 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर  पांच-पांच  बेड का आइसोलेशन सेंटर बनाने की तैयारी शुरू कर दी गई है. इसके लिये सभी उपकरणों जैसे ऑक्सीजन सिलेंडर, प्लस ऑक्सीमीटर, बेड, एंबुलेंस और अन्य जरूरत के सामानों की खरीदारी की जा रही.

corona

इसके साथ ही सभी ग्रामीण क्षेत्र के इलाके में स्थित प्राथमिक अस्पतालों में आइसोलेशन बेड को को अपग्रेड करके उसे आईसीयू बेड में बदल दिया जाएगा .इसके साथ ही वेंटिलेटर की व्यवस्था की जाएगी. क्योंकि ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है कि कोरोना की तीसरी लहर बहुत जल्द ही आ  सकती है. ऐसी स्थिती में तुरंत पीएचसी को बेहतर अस्पताल बनाना संभव नहीं है. सबसे पहले सभी पीएचसी केन्द्रों पर आइसोलेशन सेंटर बनाया जा रहा है ताकी अगर किसी व्यक्ति का ऑक्सीजन लेबल 90-93 के बीच हो तो उन्हें भर्ती कर उनका ऑक्सीजन लेवल को वापस लाया जाए. वहीं अगर उनकी स्थिति में सुधार नहीं होता है और ऑक्सीजन लेवल 90 से नीचे आ जाता है तो उन्हें एंबुलेंस के द्वारा पीएमसीएच, एनएमसीएच या फिर आईजीआईएमएस में भर्ती किया जाएगा.

बता दें कि राज्य में पिछले 24 घंटे में 4,002 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई, जबकि 107 संक्रमितों की मौत हो गई.कोरोना संक्रमण की दर बिहार में रविवार को तीन फीसदी पर पहुंच गई. पिछले 24 घंटे की बात करें तो बिहार में कोरोना संक्रमित 8,111 मरीज इलाज के बाद स्वस्थ हो गए राज्य में कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर भी लगातार बढ़ रही है.

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.