Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

छठ पूजा 2021: आस्था का महापर्व चैती छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान 16 अप्रैल से नहाय खाय के साथ शुरू

चार दिवसीय लोक आस्था  का महापर्व चैती छठ 16 अप्रैल से नहाय खाय के साथ शुरू हो रहा है. यह पर्व प्रत्यक्ष भगवान् भास्कर की उपासना से जुड़ा

1 119

बिहार नेशन: चार दिवसीय लोक आस्था  का महापर्व चैती छठ 16 अप्रैल से नहाय खाय के साथ शुरू हो रहा है. यह पर्व प्रत्यक्ष भगवान् भास्कर की उपासना से जुड़ा है.यह साल में दो बार मनाया जाता है . पहला चैत्र महीने में और दूसरा कार्तिक महीने में मनाया जाता है. ऐसी मान्यता है कि छठ पर्व में सूयोर्पासना करने से छठ मईया प्रसन्न होती हैं और परिवार में सुख, शान्ति और समृधि आती है. छठ व्रत करने की परंपरा ऋग्वैदिक काल से ही चली आ रही है.हालांकि कोरोना संक्रमण को देखते हुए छठ घाटों पर जाने की मनाही है.

chhath

आपको बता दें कि 16 अप्रैल को नहाय खाय के साथ छठ महापर्व का चार दिवसीय अनुष्ठान शुरू होगा. 17 अप्रैल को शोभन योग में खरना की पूजा होगी और 18 अप्रैल को रविवार दिन के साथ रवियोग में भगवान भास्कर को सायंकालीन अर्घ्य तथा सुकर्मा योग में व्रती प्रात:कालीन अर्घ्य देकर व्रत को पूर्ण करेंगे.

chhath

छठ महापर्व के प्रथम दिन नहाय खाय में लौकी की सब्जी,अरवा चावल, चने की दाल और आंवला की चाशनी के सेवन का खास महत्व है. वैदिक मान्यता है कि इससे पुत्र की प्राप्ति होती है. यह पर्व बिहार के साथ पूर्वी यूपी में खास तौर पर मनाया जाता है.

वहीं कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रशासन छठ व्रतियों से अपील कर रही गंगा घाटों पर छठ का अर्घ्य देने न जाए.

 

 

 

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.