Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

वैज्ञानिक रिसर्च: नाक में स्प्रे डालते ही छू मंतर हो जाएगा कोरोना संक्रमण,पढ़ें ये एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..

आज पूरा विश्व कोरोना संक्रमण की महामारी झेल रहा है.  सभी इस बीमीरी की दवा के लिए परेशान हैं. भारत सहित कई देशों ने इसका वैक्सीन भी निकाला है. लेकिन लोग इससे संतुष्ट नहीं हैं.

0 214

 

बिहार नेशन: आज पूरा विश्व कोरोना संक्रमण की महामारी झेल रहा है.  सभी इस बीमीरी की दवा के लिए परेशान हैं. भारत सहित कई देशों ने इसका वैक्सीन भी निकाला है. लेकिन लोग इससे संतुष्ट नहीं हैं. यो अब चिंता छोडिये..आ रहा है नाक में डालनेवाला नोज स्प्रे. जी हाँ. इस महामारी से उबरने के लिए दुनिया भर के वैज्ञानिक प्रयासरत हैं. इसी का परिणाम है कि अब वैज्ञानिकों  ने एक ऐसा स्प्रे बनाने का दावा किया है जो नाक में डालने मात्र से  लगभाग 100 फीसदी कोरोना वायरस को खत्म कर देता है. ये दावा कनाडा की एक कम्पनी ने की है. कंपनी ने कहा कि उनका ये दावा बीमार लोगों के इलाज का वक्त कम कर देगा और महामारी के लक्षणों की गंभीरता से बचाएगा.

वहीं एक अखबार “द सन” के मुताबिक कनाडा की कंपनी सैनोटाइज ने कहा कि उनका नाक में डालने वाला स्प्रे हवा में ही कोरोनावायरस को खत्म करना शुरू कर देता है.इसके साथ ही वह नाक के रास्ते फेफड़े को भी साफ़ करता है. इस कम्पनी ने दावा किया है कि इसका परीक्षण अमेरिका और ब्रिटेन में सफल रहा है. कम्पनी ने दावा किया कि जिन्होंने भी इसका प्रयोग किया एक दिन में वायरस की संख्या में 95 प्रतिशत की कमी आ गई और अगले 72 घंटे में यह बढ़कर 99 प्रतिशत हो गया.

जानकारी के मुताबिक़ इस समय पुरी दुनिया में कोरोना वायरस के संक्रमण के खिलाफ नाक मे डालकर वायरस को खत्म करनेवाली स्प्रे पर रिसर्च चल रहा है. अगर इस रिसर्च में वैज्ञानिकों को सफलता मिल जाती है तो आनेवाले समय में यह एक बड़ा हथियार कोरोना से लड़ाई में साबित होगा. कई दवा कंपनियां तो इनका ट्रायल भी कर रही हैं. वहीं यूके में ट्रायल्स के चीफ इन्वेस्टीगेटर डॉ. स्टीफन विन्चेस्टर ने कहा कि अगर ये स्प्रे सफलतापूर्वक बन जाता है तो बहुत बड़ी बात कोरोना से वैश्विक लड़ाई में होगा.

आपको बता दें कि अमेरिका, कनाडा, नीदरलैंड्स, फिनलैंड्स और भारत जैसे कई देशों में नाक से दी जाने वाली कोरोना वैक्सीन पर रिसर्च चल रहा है. वैसे इन पांचों देश में पांच दवा कंपनियां हैं जो नेसल वैक्सीन बना रही है. वहीं इस तरह के स्प्रे से सूई लगाने से लोगों को राहत मिल जाएगी और सिरिंज सहित कई आर्थिक बचत होंगे.

जे.पी.चंद्रा की रिपोर्ट

 

 

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.