Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

विशेष रिपोर्ट: आखिरकार थम गया इजरायल और फिलिस्तीन के बीच खूनी संघर्ष,लेकिन कैसे, जरूर पढ़ें. .

आखिरकार वह घड़ी भी आ ही गई जिसका लंबे समय से दुनियाँ को इन्तजार था । फिलिस्तीन और इजरायल के बीच संघर्ष विराम की घोषणा हो गई है। इस युद्घ के थमने से विश्व के सभी देशों ने साँस ली है।

0 131

जे.पी.चन्द्रा की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

बिहार नेशन: आखिरकार वह घड़ी भी आ ही गई जिसका लंबे समय से दुनियाँ को इन्तजार था । फिलिस्तीन और इजरायल के बीच संघर्ष विराम की घोषणा हो गई है। इस युद्ध  के थमने से विश्व के सभी देशों ने साँस ली है। क्योंकि इस युद्ध के विश्व युद्ध में बदलने की आशंका बनी हुई थी। इजराइल और फिलिस्तीन के बीच यह युद्ध 11 दिनों से दोनों के बीच जारी था। इस खूनी संघर्ष मे अबतक कई लोगों की जान गई है तथा काफी नुकसान भी फिलिस्तीन को उठाना पड़ा है। जानकारी के मुताबिक इजराइल की सुरक्षा मंत्रिमंडल ने गाजा पट्टी में संघर्ष विराम की घोषणा को 11 दिनों के लिये मंजूरी दे दी है।

आपको बता दें की इस बात की पुष्टि हमास के एक अधिकारी की तरफ से भी की गई है। अधिकारी ने बताया कि यह सीज फायर सुबह 2 बजे से लागू हो गई है। मालूम हो की इस युद्ध में अमेरिका ,रूस और तूर्की के प्रत्यक्ष रूप से शामिल होने की संभावना बढ़ गई थी । वहीं लेबनान ने भी इजरायल पर रॉकेट से हमला किया था।  मतलब साफ है कि अगर ये दो देशों कि लड़ाई नहीं रूकती तो विश्व युद्ध निश्चित रूप से रखा था।

गौरतलब है कि इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू  पर संघर्ष विराम को लेकर काफी दवाब बना हुआ था। यहाँ तक की इजरायल के सबसे घनिष्ठ मित्र अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने भी युद्ध विराम के लिये इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से बात की थी । लेकिन इजराइली पीएम ने अपील को नकार दिया था और इस युद्ध को अंतिम मोड़ तक ले जाने की बात कही थी। हालांकि युद्ध विराम से एक दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इजराइली पीएम बेंजामिन नेतनयाहू से बात की थी । और उसके अगले ही दिन संघर्ष विराम की घोषणा हो गई ।

आपको बता दें कि दोनों देशों इजरायल और फिलिस्तीन के बीच युद्ध में अबतक 60 से अधिक बच्चे और 40 के लगभग महिलाओं सहित कम से कम 250 के आस-पास फिलिस्तीनी नागरिकों की मौत हो चुकी है वहीं 1600 से अधिक लोग घायल हैं । जबकि इस युद्ध के कारण तकरीबन 60 हजार लोग अपने घरों को छोड़ चुके हैं।

वहीं इस युद्ध से एक बात तो स्पष्ट है कि इजराइल को आसानी से शिकस्त देना फिलिस्तीन और उसके पडोसियों के लिये इतनी मुमकिन नहीं है।  इस युद्ध के दौरान कई ऐसी बातें देखने को मिलीं जो इजरायल के मजबूत रक्षा तंत्र को दिखाता है । जैसे उसका डोम मिसाइल । यह मिसाइल इजराइल के लिये रामबाण साबित हुआ है। उसके इस डोम मिसाइल ने फिलिस्तीन के तरफ से दागे गये हरेक मिसाइल को इजराइली ठिकानों के निशाना बनाने से पहले ही ध्वस्त कर दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.