Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

BJP नेता ने उपेन्द्र कुशवाहा पर साधा निशाना,कहा-CM नीतीश से जमीन के लिए नाक रगड़ते रह गये नहीं मिला.अब…

बिहार में एक बार फिर से ज़ुबानी जंग छिड़ गई है. बीजेपी और जेडीयू के बीच बढ़ा तकरार ख़त्म होने का नाम नही ले रहा है.  जब से नीति आयोग ने राज्यों के विकास की सूची जारी की है तभी से ही यह मामला तूल पकड़ता जा रहा है.

0 144

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में एक बार फिर से ज़ुबानी जंग छिड़ गई है. बीजेपी और जेडीयू के बीच बढ़ा तकरार ख़त्म होने का नाम नही ले रहा है.  जब से नीति आयोग ने राज्यों के विकास की सूची जारी की है तभी से ही यह मामला तूल पकड़ता जा रहा है.  जब जेडीयू की तरफ से एमएलसी उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि बिहार को विशेष दर्जे की जरूरत है. बिहार बिना प्राकृतिक संसाधान के भी नीतीश कुमार के नेतृत्व में बढ़ रहा है .केंद्र को राज्य के लोगों की बात मान लेनी चाहिए.

उपेन्द्र कुशवाहा

बस फिर क्या था बीजेपी की तरफ से भी केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के करीबी और  बीजेपी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संतोष रंजन राय ने उपेन्द्र कुशवाहा पर निशाना साधा और ट्वीट किया. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा जब आप मोदी सरकार में मंत्री थें केंद्रीय विद्यालय के लिए सीएम नीतीश कुमार से जमीन मांगे थें, आप जमीन के लिए नाक रगड़ते रह गये नहीं मिला . अब आप कम से कम जेडीयू के नेता है शिक्षा के लिए जमीन उपलब्ध करवाईये और विद्यालय को जमीन उपलब्ध करवाइए.

आपको बता दें कि संतोष रंजन राय बीजेपी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं. ऐसे में इस हमले को केन्द्रीय हमले के तौर पर देखा जा रहा है. इससे पहले रालोसपा पार्टी को जेडीयू में विलय कर विधानपरिषद उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा था कि बिहार में पिछड़ेपन का कारण कई है. फिर भी सीएम नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार ने काफी विकास किया है. अब केंद्र सरकार को बिहार को विशेष दर्जे की मांग मान लेनी चाहिए और राज्य के लोगों के साथ न्याय करना करना चाहिए.

विशेष दर्जे की मांग

आपको बता दें कि हाल ही में नीति आयोग की रिपोर्ट जारी की गई है .इस रिपोर्ट में बिहार को सबसे नीचे दिखाया गया है. बस तभी से इसे लेकर दोनों के बीच राजनीति जारी है. हाल ही में बीजेपी ने अपने एमएलसी टुन्ना पाण्डेय को भी पार्टी से निलंबित किया है. बीजेपी एमएलसी ने कई बार सीएम नीतीश कुमार को लेकर विवादित बयान दिया था. उन्होंने यहाँ तक कह दिया था कि सीएम नीतीश कुमार को जेल भेजकर रहेंगे. वे परिस्थितियों के मुख्यमंत्री हैं. इस बात को लेकर बीजेपी और जेडीयू के बीच क़ाफ़ी मनमुटाव हो गया था. और अंततः बीजेपी को अपने एमएलसी टुन्ना पाण्डेय को पार्टी से निलंबित करना पड़ा.

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.