Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

दलित बच्ची के साथ रेप मामले में DSP के खिलाफ पत्नी ने दर्ज कराई बयान,कहा-उसे इन्साफ मिले

: इस वक्त बिहार के गया जिले से दलित बच्ची के साथ रेप मामले में बड़ी खबर सामने आ रही है. आज इस मामले ने उस समय एक नया मोड़ ले लिया जब बलात्कार के आरोपी डीएसपी कमलाकांत की पत्नी

0 136

जे.पे.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: इस वक्त बिहार के गया जिले से दलित बच्ची के साथ रेप मामले में बड़ी खबर सामने आ रही है. आज इस मामले ने उस समय एक नया मोड़ ले लिया जब बलात्कार के आरोपी डीएसपी कमलाकांत की पत्नी  ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि उस वक्त पीड़ित दलित नाबालिग बच्ची के भाई ने इसकी शिकायत की थी, लेकिन रसूखदर और  ओहदे के वजह से बलात्कार की पीड़ित नाबालिग दलित बच्ची की आवाज दबा दी गयी। गया जिले में पूर्व में  डीएसपी के पद पर तैनात कमलाकांत की पत्नी आज गया व्यवहार न्यायालय में अपना बयान दर्ज करवाने पहुंची ।

आपको बता दें कि 2017 में गया मुख्यालय में डीएसपी के पद पर तैनात कमलाकांत के खिलाफ अपने रसूख का नाजायज फायदा उठाते हुए एक दलित नाबालिक बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने का आरोप है । उस वक्त नाबालिग दलित बच्ची के भाई द्वारा इस दुष्कर्म की घटना पुलिस को लिखित शिकायत कर की गई थी , पर कमलाकांत के रसूखदार के वजह से दलित नाबालिग बच्ची के साथ हुए बलात्कार के दोषी डीएसपी कमलाकांत को कोई बाल बांका भी नहीं कर सका । इस घटना के 3 साल से भी अधिक बीत जाने के बाद आज फिर से आरोपी डीएसपी पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

आज गया व्यवहार न्यायालय में पूर्व डीएसपी कमलाकांत की पत्नी का 164 का बयान दर्ज कराया गया। आरोपी की पत्नी ने बताया कि इसकी जानकारी पीड़ित नाबालिग दलित बच्ची ने उन्हें घर जाकर बताई थी लेकिन पति ने इस मामले को दबा दिया था । आज  तीन साल से भी ऊपर बीत जाने के बाद यह मामला फिर से तूल पकड़ने लगा है। पटना क्राइम ब्रांच के सब इंस्पेक्टर , आरोपी डीएसपी की पत्नी के साथ आज गया व्यवहार न्यायालय में उनका बयान दर्ज करवाने पहुंचे ।

क्राइम ब्रांच के सब इंस्पेक्टर हरेंद्र कुमार ने बताया कि यह मामला सन 2017 का है , उस वक्त कमलाकांत गया मुख्यालय में डीएसपी के पद पर तैनात थे। उनके यहां पटना से लाई गई एक नाबालिग बच्ची को घर पर काम करने के लिए लाया गया था , लेकिन उस बच्ची के साथ डीएसपी कमलाकांत ने बलात्कार किया। इसकी जानकारी पीड़ित नाबालिग दलित बच्ची ने अपने भाई को दी थी , लेकिन इस पर कोई कार्यवाही नहीं हुई। आज 2021 के जून में इस घृणित कुकृत्य की गवाही बलात्कारी डीएसपी की पत्नी की दर्ज गया के व्यवहार न्यायालय में करवाई गई है। आरोपी डीएसपी की पत्नी ने बताया कि इसकी जानकारी पहले भी पीड़िता के परिजनों ने दी थी। उस वक्त डीएसपी के ओहदे का दुरुपयोग करते हुए इस पूरे मामले पर लीपापोती कर दी गई थी। आज गया व्यवहार न्यायालय में तत्कालीन डीएसपी की पत्नी का बयान दर्ज करवाए जाने के बाद नाबालिग दलित पीड़िता को न्याय मिलने की उम्मीद जगी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.